5.1 C
New York
Friday, January 27, 2023

Buy now

spot_img

Delhi Police Is Investigating The Hate Speeches Of BJP Leaders Opposition Leaders Demand Strict Action


Hate Speech Case: दिल्ली पुलिस ने इस सप्ताह की शुरुआत में दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा और पार्टी के लोनी से विधायक नंदकिशोर गुर्जर की ओर से दिए गए नफरती भाषणों की जांच कर रही है. पुलिस के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि दोनों नेताओं के भाषणों को विश्लेषण के लिए लिखित रूप में बदला जा रहा है और फिर उनकी विस्तृत जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता प्रवेश वर्मा के खिलाफ शिकायत मिली है लेकिन उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

विपक्षी दलों ने की है कार्रवाई की मांग 

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने कथित नफरत भरे भाषणों के लिए भाजपा सांसद और विधायक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. इस घटना के कई वीडियो ऑनलाइन सामने आए हैं. पुलिस ने दिलशाद गार्डन इलाके में रविवार को बिना इजाजत कार्यक्रम आयोजित करने के आरोप में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और अन्य आयोजकों के खिलाफ सोमवार को प्राथमिकी दर्ज की थी.

पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि “कार्यक्रम के दौरान दिए गए सभी कथित नफरती भाषणों को करीब से देखा जा रहा है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, मामले की गहन जांच चल रही है. प्रवेश वर्मा और नंदकिशोर गुर्जर सहित उपस्थित लोगों द्वारा दिए गए सभी भाषणों की जांच की जा रही है और विश्लेषण के लिए उनके भाषणों को लिखित रूप में बदला जा रहा है.”

विश्व हिंदू परिषद ने कहा-पुलिस से अनुमति ली गई थी

पुलिस से अनुमति न लेने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत प्रख्यापित आदेश की अवज्ञा) के तहत आयोजकों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गयी है. कार्यक्रम का आयोजन विहिप समेत कई दक्षिणपंथी संगठनों ने किया था.

विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कार्यक्रम के लिए अनुमति नहीं लेने के पुलिस के दावे को हास्यास्पद बताया और कहा कि दिलशाद गार्डन में हुए इस कार्यक्रम में पुलिसकर्मी तैनात थे. विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल ने दावा किया था, अनुमति की तो छोड़िए, हमने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सुझाव और सिफारिश के बाद दिलशाद गार्डन में रामलीला मैदान को आयोजन स्थल के लिए तय किया था.

उन्होंने बताया कि पहले मनीष के घर के पास बैठक करने की योजना थी लेकिन पुलिस के अनुरोध पर स्थान बदलकर इसे रामलीला मैदान कर दिया गया.बता दें कि 19 साल के युवक मनीष की एक अक्टूबर को सुंदर नगरी इलाके में कथित तौर पर चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई थी. इसके विरोध में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था.

ये भी पढ़ें:

Bihar Politics: जेपी आंदोलन पर अमित शाह बनाम नीतीश कुमार, जमकर हुआ वार-पलटवार

New CJI: डीवाई चंद्रचूड़ बनेंगे अगले चीफ जस्टिस, पलट चुके हैं अपने पिता के दो फैसले



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,682FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles