3.8 C
New York
Thursday, February 9, 2023

Buy now

spot_img

नशे का नाश एक सामाजिक आवश्यकता है: जिला विद्यालय निरीक्षक

देवरिया टाइम्स

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार तथा मद्य निषेध विभाग, उत्तर प्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वाधान में ड्रग एब्यूज के दुष्परिणामों पर चर्चा परिचर्चा और सहभागिता पर तीन दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज के सभागार में हुआ। जिला विद्यालय निरीक्षक देवेंद्र गुप्ता मुख्य अतिथि के रूप में तथा जिला आबकारी अधिकारी अश्वनी कुमार जी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज के प्रधानाचार्य डा• प्रदीप शर्मा ने किया। कार्यक्रम का आयोजन एलर्ट एक्शन फॉर सोशल डेवलपमेंट उनवल गोरखपुर के द्वारा किया गया।

मुख्य अतिथि जिला विद्यालय निरीक्षक ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बीड़ी, तंबाकू, गुटका, शराब इन सब का सेवन करने वाले को एक ऐसी लत हो जाती है कि उसे छोड़ पाना संभव नहीं होता। आज के परिदृश्य में यह एक सामाजिक समस्या बन चुका है। इतना ही नहीं इसका एक आर्थिक पहलू भी है जो इन सबका आदी हो जाता है उसकी आर्थिक स्थिति भी बहुत दयनीय हो जाती है। महात्मा गांधी ने कहा था की शराब एक बुरी आदत है जो स्वास्थ्य, मन, सामाजिकता और नैतिकता को बुरी तरह प्रभावित करता है। इसके सेवन के बाद इंसान होश खो देते हैं। चरित्र, धन, हत्या, लूटपाट की स्थिति भी उत्पन्न होती हैं।

शराबी विवेकशून्य हो जाता है और इसके सेवन से तमाम बुरी आदतें पनपती हैं। शराब एवं अन्य मादक पदार्थों एवं अन्य मादक पदार्थों का सेवन यदि छोड़ दिया जाए तो अपनी रक्षा, परिवार की रक्षा, समाज तथा पूरे देश की रक्षा संभव है। भारतीय संविधान में भी यह व्यवस्था तय की गई है कि ऐसे मादक पेय पदार्थ जो चिकित्सा में उपयोगी हो उसे ही अनुमति दी जाए। इस संदर्भ में उन्होंने अलर्ट एक्शन फार सोशल डेवलपमेंट द्वारा ड्रग्स एब्यूज की दुष्परिणामों पर आयोजित इस चर्चा पर चर्चा की भूरी -भूरी प्रशंसा की और इसे समाज में प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का आह्वान किया। इसी क्रम में विशिष्ट अतिथि जिला आबकारी अधिकारी, देवरिया श्री अश्वनी कुमार ने सभागार में उपस्थित बच्चों से मद्य निषेध के दुष्परिणामों पर चर्चा करते हुए मादक पदार्थों से दूर रहने से की शपथ ली।

प्रधानाचार्य श्री प्रदीप कुमार शर्मा ने इस प्रकार के आयोजनों की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि समाज में इस प्रकार के आयोजन समय-समय से होते रहने चाहिए जिससे न सिर्फ बच्चों बल्कि उनके अभिभावकों को भी ड्रग के दुष्परिणामों का पता चले और इनसे इसे सावधान रखा जा सके। कार्यक्रम के प्रारंभ में सर्वप्रथम एलर्ट एक्शन फॉर सोशल डेवलपमेंट के संचालक मनोज त्रिपाठी द्वारा आए हुए अतिथियों का और आगंतुकों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक मिश्रा जी द्वारा किया गया तथा अंत में आभार ज्ञापन कार्यक्रम के आयोजन सचिव डॉ• रजनीश राय द्वारा किया गया तथा तीन दिवसीय इस प्रतियोगिता में कल के कार्यक्रम पर भी बच्चों को और आगंतुकों को जानकारी दी गई।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,706FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles